महात्मा गाँधी की जीवनी – जीवनी परिचय। Mahatma Gandhi Biography

Mahatma Gandhi ki jivani – history of Mahatma Gandhi biography Hindi,  about Mahatma Gandhi family, father name, mother name, wife name, sons name, birth place, date of death and Hindi quotes.

mahatma gandhi
mahatma gandhi

इतिहास के पन्नों में महात्मा गांधी का नाम सबसे अच्छी जगह आता है, जब भी हम अपने देश की आजादी और स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास की चर्चा करते हैं तो महात्मा गांधी का नाम जरूर लेते हैं।

महात्मा गांधी एक शांतिप्रिय व्यक्ति थे, जो सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलते थे। उनका मानना था कि जो रक्तपात से नहीं हो सकता वह शांति और अहिंसा से किया जा सकता है। गांधीजी के इस व्यवहार और स्वभाव को देखकर लोग उन्हें महात्मा कहकर संबोधित करने लगे। महात्मा गांधी ने इसी सत्य और अहिंसा के स्वभाव के सहारे अंग्रेजों की अनेक योजनाओं को विफल कर दिया था और भारत को स्वतंत्रता के शिखर पर पहुँचा दिया था।

आइए अब आपसे महात्मा गांधी की जीवनी के बारे में कुछ बातों पर चर्चा करते हैं।

महात्मा गांधी की जीवनी ( Mahatma Gandhi biodata in Hindi )

Let us know about some important facts of Mahatma Gandhi’s biography. ( Mahatma Gandhi short biography in Hindi )

पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी
उपनाम महात्मा गाँधी
जन्म तिथि 2 अक्टूबर 1869
जन्म स्थान पोरबंदर ( गुजरात )
मृत्यु तिथि 30 जनवरी 1948
हत्यारे का नाम नाथूराम गोडसे
धर्म हिन्दू
जाति गुजराती
राष्ट्रीयताभारतीय
शिक्षा बैरिस्टर
पेशा क्रन्तिकारी नेता , लेखक , बैरिस्टर ,पत्रकार
पिता का नाम करमचंद गाँधी
माता का नाम पुतली बाई
पत्नी का नाम कस्तूरबा गाँधी
संतान 4 बेटे – रामदास , देवदास , हरिलाल , मणिलाल
स्लोगन ( Slogan )करो या मारो , भारत छोडो
Mahatma Gandhi Biodata In Hindi

महात्मा गांधी का जीवन परिचय ( about the life of Mahatma Gandhi )

mahatma gandhi

महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था महात्मा गांधी को भारत के राष्ट्रपिता के नाम से भी जाना जाता है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को भारत के वर्तमान गुजरात में एक तटीय शहर पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। महात्मा गांधी की माता का नाम पुतलीबाई और पिता का नाम करमचंद गांधी था, जो ब्रिटिश राज के दौरान पोरबंदर के दीवान थे।

इसे भी पढ़े – भारत के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की जीवनी परिचय

महात्मा गांधी का परिवार ( about Mahatma Gandhi family in Hindi )

महात्मा गांधी के पिता का नाम करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई था। जब महात्मा गांधी साढ़े 13 साल के थे, तब उनका विवाह 14 साल की कस्तूरबाई माखनजी कपाड़िया से हुआ था। कस्तूरबाई माखनजी कपाड़िया को हम कस्तूरबा के नाम से भी जानते हैं। महात्मा गांधी और कस्तूरबा के चार बच्चे थे रामदास गांधी, देवदास गांधी, हरिलाल गांधी और मणिलाल गांधी।

महात्मा गांधी की शिक्षा

महात्मा गांधी की प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर में हुई। वह पढ़ाई में बहुत कमजोर था और खेलकूद में भी उसकी रुचि नहीं थी। महात्मा गांधी बचपन में बहुत शर्मीले और डरपोक थे। वह सभी विषयों में बहुत कमजोर था।

जब गांधी नए साल में थे, तो उनके पिता करमचंद गांधी को नौकरी के काम से काठियावाड़ की एक और रियासत राजकोट जाना पड़ा, जहाँ उनके पिता को पहले काउंसलर और फिर बाद में दीवान की नौकरी मिली।

11 साल की उम्र में, गांधी को पास के स्कूल, अल्फ्रेड हाई स्कूल में नामांकित किया गया था। यहां प्राथमिक शिक्षा की तुलना में उनकी पढ़ाई का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा। अंग्रेजी, गणित जैसे तमाम विषयों में उनकी पकड़ हो गई थी लेकिन वह अभी भी भूगोल विषय में कमजोर थे।

उनकी एक चीज तब भी नहीं बदली थी और वह थी उनकी लिखावट। शायद यही कारण था कि बचपन में वह अपनी उंगली से मिट्टी या धूल पर लिखा करते थे। गांधी अभी भी स्वभाव से शर्मीले और डरपोक थे। 13 साल की उम्र में गांधी ने 14 साल की उम्र में कस्तूरबा से शादी कर ली। शादी के बाद उनकी हाई स्कूल की पढ़ाई में काफी मुश्किलें आईं। दोनों मिलकर अपना घर भी संभालते। क्योंकि उस समय उनके पिता की तबीयत ठीक नहीं थी। किसी तरह महात्मा गांधी ने अपनी हाई स्कूल की शिक्षा पूरी की।

हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद, उन्होंने आगे की पढ़ाई के लिए सामलदास आर्ट्स कॉलेज में दाखिला लिया। लेकिन पढ़ाई बीच में ही छोड़कर वे पोरबंदर में अपने परिवार के पास आ गए। गांधी को कुछ दिनों के बाद फिर से एहसास हुआ कि उन्हें कॉलेज में दाखिला लेना चाहिए। लेकिन इस बार उन्होंने कुछ अलग करने की सोची, इस बार उन्होंने कानून की पढ़ाई करने की सोची। गांधी अब तक अपनी सारी पढ़ाई भारत से ही कर रहे थे, इसलिए उन्होंने तय किया कि इस बार उन्हें इंग्लैंड जाना चाहिए। यह उनके लिए बहुत चुनौतीपूर्ण फैसला था, लेकिन किसी तरह सबको मनाकर, अपने परिवार को, अपने माता-पिता को मनाकर, वे इंग्लैंड चले गए। 4 सितंबर 1988 को, गांधी यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में कानून का अध्ययन करने और बैरिस्टर बनने के लिए गए और 3 साल में अपनी डिग्री प्राप्त करने के बाद घर लौट आए। इस बीच उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

महात्मा गाँधी के आंदोलन ( Mahatma Gandhi Movements )

  1. चम्पारण सत्याग्रह ( 1917 )
  2. खेड़ा सत्याग्रह ( 1918 )
  3. खिलाफत आंदोलन ( 1919 )
  4. असहयोग आंदोलन ( 1919 – 1920 )
  5. सविनय अवज्ञा आंदोलन ( 1930 )
  6. स्वराज और नमक सत्याग्रह ( 20 मार्च 1930 )
  7. भारत छोडो आंदोलन
  8. दलित आंदोलन

महात्मा गाँधी के नारे ( Mahatma Gandhi Slogans in Hindi )

  1. करो या मारो
  2. भारत छोडो
  3. किसी की मेहरबानी मांगना , अपनी आजादी बेचना।
  4. भगवान का कोई धर्म नहीं।

FAQ

Q: महात्मा गाँधी का जन्म कब हुआ ?

Ans: 2 अक्टूबर 1969

Q: महात्मा गाँधी का जन्म कहा हुआ था ?

Ans: पोरबंदर ( गुजरात )

Q: महात्मा गाँधी की मृत्यु कब हुई ?

Ans: 30 जनवरी 1948

Q: महात्मा गाँधी का पूरा नाम क्या है ?

Ans: मोहनदास करमचंद गाँधी

Q: महात्मा गाँधी जयंती कब मनाई जाती है ?

Ans: 2 अक्टूबर

Q: महात्मा गाँधी के बेटो का नाम क्या था ?

Ans: 4 बेटे थे – रामदास , देवदास , हरिलाल और मणिलाल

Q: महात्मा गाँधी के पिता का नाम क्या था ?

Ans: करमचंद गाँधी

Q: महात्मा गाँधी में माता का नाम क्या था ?

Ans: पुतली बाई

Q: महात्मा गाँधी के पत्नी का नाम क्या था ?

Ans: कस्तूरबाई मखंडी कपाडिया ( कस्तूरबा गाँधी )


आज हमने क्या जाना ?

दोस्तों आज हमने महात्मा गांधी की जीवनी, जीवनी, उनका जन्म-मृत्यु, समाज के प्रति आंदोलन, माता-पिता का नाम, पत्नी और बच्चों के नाम, उनके कुछ प्रसिद्ध नारों (Mahatma Gandhi Slogans in hindi), शिक्षा के बारे में कई जानकारियों पर चर्चा की और आदि महात्मा गांधी। आशा है कि आपको यह लेख महात्मा गांधी की जीवनी पसंद आई होगी। शुक्रिया।

होम यहाँ क्लिक करे
इसरो वैज्ञानिक नंबी नारायणन का जीवनीयहाँ क्लिक करे
Blogging और Youtube के बारे में सीखे यहाँ क्लिक करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here